Advertisements

Month: October 2019

भगवान् कृष्ण और भीष्म का अंतिम सवाद

महाभारत युद्ध समाप्त हो चुका था. युद्धभूमि में यत्र-तत्र योद्धाओं के फटे वस्त्र, मुकुट, टूटे शस्त्र, टूटे रथों के चक्के, छज्जे आदि बिखरे हुए थे और वायुमण्डल में पसरी हुई थी घोर उदासी …. ! गिद्ध , कुत्ते , सियारों की उदास और डरावनी आवाजों के बीच उस […]

Advertisements

पूछो इन जीत से तेरी रज़ा क्या है ।

खुली आंख से सपने सज़ा लो, इन ख्यालो में बसा क्या है । अथक परिश्रम तुम कर लो, इन चापलूसी में रखा क्या है । भटको मत, लक्ष्य का पीछा करो, मंजिल से पूछो तेरा पता क्या है । राहें बनती – बिगड़ती जायेगी, पगडंडियों से घबराना क्या […]

तुम से है ।

मेरा वजूद मुक़म्मल तुम से है । मेरी हर एक ग़ज़ल तुम से है । मेरा मुजमें कुछ ना बचा अब, जिंदगी मेरी सफल तुम से है । जुदा हो कर कहाँ जाऊँगा में, मेरा तो हर एक पल तुम से है । धड़कता है दिल तुम्हारे होनेसे, […]

होगा ही

गरीब का ख्वाब तो होगा ही, धन नही सम्मान तो होगा ही, सदियो पुराना जो है इंसान, कहीं से ख़राब तो होगा ही; मौसम देखो कितना सर्द है ! जाम ए शराब तो होगा ही। पाला है शौक गुलफाम का; हाथ में गुलाब तो होगा ही, तकलिफ लबों […]

शुभ दीपावली

अपने अंदर का स्नेह जला कर, दीपक उजियारा करता है । ज्योति-किरण कितनी भी लघु हो, पर उस से अंधियारा ड़रता है । आओ हर दीपक-बाती के, मन में सोई जोत जलाएँ । मानवता की राह प्रकाशित, करने वाले दीप जलाएँ । सूरज़ आने के पदचापों की, आहट […]

Shayari Part 40

बिखर जाने के बाद भी नई शुरुआत हो सकती है, ख़ामोश रह कर भी मुहब्बत की बात हो सकती है । #अख़्तर_खत्री ******* तुम्हारी तपिश से पिघल जाए वजूद ये हमारा कभी तो निगाहों से तुम हमको ऐसे छुआ करो। ******* कद बढ़ा नहीं करते ,ऐड़ियां उठाने से, […]

मत करना

सिला ना मिले तो गिला मत करना, ख़ुशी से किसी की जला मत करना । मंज़िल यह रास्ता ही है, समझ लो, आंखे बंद करके चला मत करना । मुक़द्दर में लिखा, ना छिनेगा कोई, ज़रा देरी से मिले, डरा मत करना । तुमसे मिले और जो मुस्कुराये […]

क्रोध के दो मिनट

एक युवक ने विवाह के दो साल बाद परदेस जाकर व्यापार करने की इच्छा पिता से कही । पिता ने स्वीकृति दी तो वह अपनी गर्भवती पत्नी को माँ-बाप के जिम्मे छोड़कर व्यापार करने चला गया । परदेश में मेहनत से बहुत धन कमाया और वह धनी सेठ बन […]

सम्मान का ऑक्सीजन

रविवार का दिन था| अखबार पढ़ने के बाद कमलेश जी बरामदे में बैठे रेडियो पर गानें सुन रहे थे| एकाएक उनके कानों में इकतारे की धुन के साथ साथ लोक संगीत के बोल घुल गये| आँखे खोलकर उन्होने आवाज की दिशा में देखा| दरवाजे पर खड़ा एक बूढ़ा […]

धनतेरस और दिवाली मैसेज

आने वाले साल की दुआ में मुझे क्या क्या चाहिए यारो के चेहरे पर ख़ुशी और लबो पर हसी चाहिए मिले ना मिले मुझे अनमोल ख़ज़ाने बेपनाह प्यार के तोहफे चाहिए कोई लेना देना नहीं मुझे दुनिया की भीड भाड़ से चारो ओर दोस्तो के मेले चाहिए चमकते […]

Brand New Version of मधुशाला

मैं औऱ मेरी तनहाई, अक्सर ये बाते करते है.. ज्यादा पीऊं या कम, व्हिस्की पीऊं या रम। मैं और मेरी तन्हाई, या फिर तोबा कर लूं.. कुछ तो अच्छा कर लूं। हर सुबह तोबा हो जाती है, शाम होते होते फिर याद आती है। क्या रखा है जीने […]

रोशन है

तसव्वुर से उस के मेरा आशियाँ रोशन है, जैसे की इस सेहरा में एक दरिया रोशन है । कल की फ़िक्र क्यूं करेगा, अंधेरों में भी वो, उस गरीब के चूल्हे में तो आसमां रोशन है । पुकार लेती है अपनी मां को अक्सर दर्द में, दुल्हन के […]

शानदार बात

एक बार संख्या 9 ने 8 को थप्पड़ मारा 8 रोने लगा पूछा मुझे क्यों मारा ..? 9 बोला : मैं बड़ा हु इसीलए मारा सुनते ही 8 ने 7 को मारा और 9 वाली बात दोहरा दी 7 ने 6 को 6 ने 5 को 5 ने […]

एक संवाद लंकेश के साथ

कल सुबह-सुबह रास्ते में एक दस सिर वाला हट्टा कट्टा बंदा अचानक मेरी बाइक के आगे आ गया। जैसे तैसे ब्रेक लगाई और पूछा.. क्या अंकल 20-20 आँखें हैं..फिर भी दिखाई नहीं देता ? जवाब मिला- थोड़ा तमीज से बोलो, हम लंकेश्वर रावण हैं ! ओह अच्छा ! […]

देवराज इंद्र और मैं…

कल रात मैंने एक “सपना”  देखा.!! सपने में….मैं और मेरी Family शिमला घूमने गए..! हम सब शिमला की रंगीन वादियों में कुदरती नजारा देख रहे थे..! जैसे ही हमारी Car Sunset Point की ओर निकली… अचानक गाडी के Break फेल हो गए और हम सब करीबन 1500 फिट […]