Advertisements

Day: November 10, 2019

Shayri Part 41

उड़ा के जो हँस रही हो, मेरे एहसासों के परिंदे….!! पाले थे सिर्फ तुम्हारे ही लिए, ये जान के रोओगी…..!! ******* फैसला उसने लिखा, पर कलम मैंने तोड़ दी….!! आज हमारे प्यार को, हाय “फाँसी” हो गई….!! ******* ये बात किसने उड़ाई की मुझे इश्क है तुमसे.. हाँ, […]

Advertisements